अचानक लद्दाख ही नहीं बल्कि कई बार चौकाने वाले दौरे कर चुके हैं प्रधानमंत्री मोदी

अचानक लद्दाख ही नहीं बल्कि कई बार चौकाने वाले दौरे कर चुके हैं प्रधानमंत्री मोदी

दीपावली पर कई बार सैनिकों के बीच पहुंच कर बढ़ा चुके हैं हौसला

शिब्ली रामपुरी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अचानक लद्दाख पहुंच कर सबको चौंका दिया. यहां पर उन्होंने ना सिर्फ सैनिकों से मुलाकात की बल्कि उनका हौसला भी बढ़ाया.
प्रधानमंत्री मोदी का लद्दाख पहुंचना केवल एक दौरा नहीं है वह इससे पहले भी कई बार ऐसे दौरे करते रहे हैं जो चौंकाने वाले रहे हैं. यदि गौर किया जाए तो प्रधानमंत्री मोदी 6 साल में कई चौकाने वाले दौरे कर चुके हैं जिसमें प्रथम दौरा उनका चौंकाने वाला 2015 में पाकिस्तान का हुआ था. पीएम मोदी तब अफगानिस्तान दौरे से लौट रहे थे और उन्होंने अपना विमान पाकिस्तान में उतरवा लिया था और वह अचानक नवाज शरीफ के घर पहुंच गए थे.

इसके अलावा पीएम मोदी 27 अक्टूबर 2019 को जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद दिवाली राजौरी में लाइन ऑफ कंट्रोल पर सैनिकों के साथ मनाने पहुंच गए थे. तब पीएम मोदी ने अपने हाथों से सेना के जवानों को मिठाई खिलाई थी. उत्तराखंड के हर्षिल पहुंचकर भी पीएम मोदी ने चौंका दिया था.
30 अक्टूबर 2016 को पीएम मोदी हिमाचल के सुमडो में सैनिकों के बीच पहुंचे थे और वहां पर उन्होंने जवानों से मुलाकात कर उन्हें मिठाई खिलाई थी.

11 नवंबर 2015 को पीएम मोदी ने अमृतसर में फौजियों के साथ दिवाली मनाई.

जिस वक्त नरेंद्र मोदी देश के पीएम बने तब केंद्र की सत्ता संभालने के बाद उन्होंने पहली दिवाली सियाचिन में जवानों के साथ और लौटते वक्त श्रीनगर में बाढ़ पीड़ितों के साथ मनाई थी. समुंदर तल से करीब 19000 फीट ऊपर स्थित सियाचिन दुनिया का सबसे ऊंचा युद्ध क्षेत्र है. प्रधानमंत्री मोदी ने यहां पहुंचकर जवानों का हौसला बढ़ाते हुए कहा था उचाई हो या भीषण ठंड हमारे फौजियों को कोई नहीं रोक सकता.

इसी साल 19 फरवरी को प्रधानमंत्री मोदी दिल्ली में राजपथ के पास लगे हुनर हाट पहुंचे जहां पर उन्होंने बिहार के पारंपरिक व्यंजन लिट्टी चोखा का स्वाद चखा था साथी कुल्हड़ वाली चाय भी पी थी.

Comments are closed.