दुनिया भर में कहर बरपा रहे कोरोना पर भारत में होगी पढ़ाई, मेरठ की यूनिवर्सिटी के प्रोफेसर तैयार करेंगे कोर्स

कोरोना वायरस ने इन दिनों पूरी दुनिया को अपनी गिरफ्त में ले रखा है। बड़ी संख्या में लोग संक्रमित हैं। इससे बचाव के तरीके ढूंढे जा रहे हैं। ऐसे माहौल में उत्तर प्रदेश के चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय कोरोना वायरस पर कोर्स चलाने की तैयारी में जुटा है। कोर्स तैयार करने की जिम्मेदारी डिजास्टर मैनेजमेंट (आपदा प्रबंधन) के जंतु विज्ञान, वनस्पति, विष विज्ञान और पर्यावरण विज्ञान विभाग को सौंपी गई है।

चौधरी चरण सिंह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो एनके तनेजा ने बताया कि विश्वविद्यालय में डिजास्टर मैनेजमेंट (आपदा प्रबंधन) के जंतु विज्ञान, वनस्पति एवं विष विज्ञान और पर्यावरण विज्ञान के विभागाध्यक्षों से कहा गया है कि वे इस कोर्स को तैयार करें। तनेजा ने कहा कि जिस तरह से कोरोना वायरस को लेकर पूरी दुनिया में स्थिति बनी है। ऐसे समय में यह पाठ्यक्रम उपयोगी साबित हो सकता है।

कुलपति तनेजा ने कहा, “यह एक वर्षीय डिप्लोमा कोर्स होगा। इसमें इस वायरस को अलग से शामिल किया जाएगा। इसके अलावा विश्वविद्यालय में विज्ञान के तीन विषयों में भी वायरस स्टडीज को पाठ्यक्रम का हिस्सा बनाया जाएगा। इसे हर हाल में दो माह में शुरू करना है। यह स्ववित्तपोषित पाठ्यक्रम होगा। इसे सैद्धांतिक रूप से सहमति प्रदान कर दी गई है और अब इसे व्यवाहरिकता में लाना है। एकैडमिक कांउसिल के माध्यम से इसे पास कराया जाएगा।”

Comments are closed.