महाराष्ट्र की सियासी सूरते हाल और मुल्ला नस्र उद्दीन का गधा
November 27, 2019
मुसलमानों का कितना मददगार ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ? क्या ज़रूरत है बोर्ड मे वक़्त के साथ बदलाव की ?
November 30, 2019

कमांडो 3. 2 घंटे 13 मिनट की फिल्म में हर 5 मिनट बाद एक्शन दर्शकों को बोर नहीं करती है फिल्म

कमांडो 3.
2 घंटे 13 मिनट की फिल्म में हर 5 मिनट बाद एक्शन

दर्शकों को बोर नहीं करती है फिल्म

(शिब्ली रामपुरी)
विद्युत जामवाल एक ऐसे अभिनेता हैं कि जिन्हें आज के युग का सनी देओल अगर कहा जाए तो शायद यह ज्यादा गलत नहीं होगी. क्योंकि विद्युत जामवाल का नाम आते ही जहन में एक ऐसे अभिनेता की छवि उभरती है जो एक्शन से भरपूर स्टंट दिखाता है और वह दर्शकों को कहीं से भी बोर नहीं लगते हैं. पहली फिल्म कमांडो की अगर बात करें तो उसमें विद्युत जामवाल के एक्शन आज तक दर्शकों के जेहन में ताजा हैं कि किस तरह से विद्युत जामवाल ने उस फिल्म में एक्शन दृश्य किए थे.

विद्युत जामवाल की कमांडो 3 रिलीज हुई है फिल्म ठीक-ठाक है हालांकि कहानी में वह बात नहीं है जो होनी चाहिए थी लेकिन फिर भी जहां तक विद्युत जामवाल की बात है तो वह एक्शन के सहारे पूरी फिल्म में छाए रहे हैं. फिल्म में विद्युत जामवाल ने दो कैरेक्टर निभाए हैं.
पिछली फिल्मों की तरह ही इस फिल्म में भी कुछ ऐसे एक्शन दृश्य हैं जैसे हवा में कलाबाजी या मार कर दुश्मन को चित कर देना या फिर कार की खिड़की के बीच से एक्शन दिखाते हुए निकल जाना. हालांकि इस फिल्म में एक ऐसा सीन है कि जो बेहद रोमांचक है और वह सीन आप फिल्म देख कर के ही महसूस करेंगे यह पूरा एक्शन सीन विद्युत जामवाल ने खुद किया है. फिल्म की कहानी कमजोर होने का एहसास भी उस वक्त काफी कम नजर आता है जब जब विद्युत जामवाल पर्दे पर आते हैं और वह अपने एक्शन दिखाते हैं या फिर डायलॉग बोलते हैं. फिल्म में विद्युत जामवाल के साथ अभिनेत्री के तौर पर अदा शर्मा है. उनकी एक्टिंग भी ठीक-ठाक है नकली दुल्हन बनकर वह फिल्म में एंट्री करती हैं और पहले ही दृश्य से दर्शकों को लुभाने का उनका प्रयास जारी रहता है, आप यह फिल्म एक बार देख सकते हैं फिल्म आपको ज्यादा पसंद नहीं आएगी तो कम से कम बोर भी नहीं करेगी.

Comments are closed.